Posts

डिप्लोमेटिक कप पर मेजबान एमईए का कब्जा

Image
नई दिल्ली, भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा आयोजित.. डिप्लोमेटिक कप के लिए अरुण जेटली स्टेडियम पर खेले गए फाईनल मैच में मेजबान एमईए ने यूएसए हाईकमीशन टीम को 8 विकेट से हरा दिया । टास यूएसए की टीम ने जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। निर्धारित 20 ओवर में यूएसए हाईकमीशन की टीम ने 8 विकेट खोकर मात्र 99 रन बनाए। जिसमें पंकज ने 33 बाल पर 24 रन, सन्नी नाट आउट 12 बाल पर 18 रन और अभिनव 18 बाल पर 15 रन बना पाए। एमईए की ओर से योगेश यादव ने 3 विकेट, राहुल बगरानिया ने 2 विकेट और जेपी सिंह व मंदीप ने 1-1 विकेट लिए। मैदान में जवाब देने उतरी एमईए की टीम ने 2 विकेट खोकर 100 रन बनाकर डिप्लोमेटिक कप पर कब्जा किया।आकाश चाहर ने 38,और वैभव राणा के 16 नाट आउट पारी के चलते एमईए ने सफलता अर्जित की।आउट होने वाले 2 खिलाड़ी बास्सिट 25 और आदित्य रत्न 3 रन शामिल थे।मैन आफ दा मैच राहुल बगरानिया तथा बेस्ट मैन ऑफ द टूर्नामेंट आकाश चाहर को घोषित किया गया। विदेश मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव अरुण चैटर्जी, संयुक्त सचिव जेपी सिंह, के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारी तथा कई दूताव

एमसीएफ ने 50000 छात्रों के मुफ्त शिक्षा के लिए आईपीएल 2021 में पंजाब किंग्स से हाथ मिलाया

Image
दिल्ली : माई क्लासरूम फाउंडेशन ने आईपीएल 2021 के लिए पंजाब किंग्स टीम के साथ अपनी आधिकारिक साझेदारी की है। फाउंडेशन का लक्ष्य 50000 बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करना है। साझेदारी की घोषणा के लिए द रोज़ेट होटल, देहली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में फाउंडेशन के सीईओ और एमसीएफ के संस्थापक अभिनव त्रिपाठी, सह-संस्थापक अमर मणि मिश्रा, एलीट स्पोर्ट के संस्थापक निशांत दयाल और डिप्टी डायरेक्टर, मार्केटिंग शुभम शर्मा मौजूद थे। फाउंडेशन के बारे में अभिनव ने बताया, 'ओटीटी स्तर पर युवा पीढ़ी को शिक्षा प्रदान करने के लिए माई क्लासरूम फाउंडेशन बनाया गया है। पंजाब किंग्स के साथ फाउंडेशन का जुड़ाव हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि टीम अपनी युवा भावना के लिए अलग से जानी जाती है। टीम में बहुत सारे युवा चेहरे हैं जो युवाओं की प्रेरणा हैं। न केवल वे युवाओं के बीच खेल को प्रोत्साहित करते हैं, बल्कि उन्हें हर क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए हौसला भी देते हैं। हम अगले पांच वर्षों में 41 नई प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी संबंधी सदस्यता शुरू करने की योजना बना रहे हैं। हमारा उद्देश्य तकनीक की

लोकसभा स्पीकर ओम बिडला से मिला रामलीला महासंघ का प्रतिनिधिमंडल* *लीला मंचन की गाइड लाइंस तुरंत जारी कराने के लिए हस्तक्षेप की माँग

Image
रामलीला महासंघ का एक प्रतिनिधिमंडल रामलीला मंचन को सो फ़ीसदी कपैसिटी के साथ तुरंत अनुमति प्रदान करने और लीला मंचन की गाइड लाइंस तुरंत जारी कराने के लिए हस्तक्षेप करने की माँग को लेकर लोकसभा स्पीकर ओम् बिडला से मिला! महासंघ के कार्यकारी प्रेसिडेंट अशोक अग्रवाल ने लोकसभा स्पीकर ओम बिडला से अनुरोध किया क़ि देश की इस प्राचीन धार्मिक सांस्कृतिक विरासत को बचाने के लिए वह तुरंत हस्तक्षेप करें! महासंघ के महां सचिव अर्जुन कुमार ने श्री बिडला से कहा दिल्ली के साथ साथ देश वसियों को लीला मंचन का बेसबरी से इंतज़ार है  इंद्रप्रस्था रामलीला से जुड़े और रामलीला महासंघ के महासचिव सुरेश बिंदल ने कहा अब जब मेट्रो और बसे भी फ़ुल कपैसिटी के साथ चल रही है सभी मार्केट पूरी तरह से खुल चुकी है ऐसे में सरकार को लीला मंचन की तुरंत अनुमति प्रदान करनी चाहिए!  नवश्री धार्मिक रामलीला कमिटी से जुड़े   प्रकाश बराठी ने गाइड लाइन को तुरंत जारी  करने की माँग करते हुए कहा अब जब सिनेमा, क्लब , अम्यूज़मेंट पार्क तक शुरू हो चुके है तो लीला मंचन को अनुमति क्यो नही! अशोक विहार रामलीला कमिटी से जुड़े और महासंघ के महामंत्री महें

रैना - हॉस्टल की वो रात'' फिल्म का पोस्टर एवं ट्रेलर लाँच

Image
नई दिल्ली: श्योर शाट द्वारा निर्मित ''रैना-हॉस्टल की वो रात''  लघु फिल्म की पूरी टीम ने पोस्टर एवं ट्रेलर त्रिवेणी ऑडिटोरियम, मंडी हाउस, नई दिल्ली में लाँच किया। ''रैना - हॉस्टल की वो रात'' के ट्रेलर लॉन्च की योजना कोविड की दूसरी लहर के बाद बनाई गई। यह पहली बड़ी ऑन-ग्राउंड इवेंट के रूप में इस  लघु फिल्म के कलाकारों और निर्माता व निर्देशक एस.एस.डोगरा के नेतृत्व में बतौर मुख्य अतिथि कृष्ण कुमार सोनी (लेखक एवं सरकारी अधिकारी) के उपस्थिति में ट्रेलर का अनावरण मंडी हाउस, नई दिल्ली के त्रिवेणी थिएटर ऑडिटोरियम में किया गया। कोविड प्रोटोकॉल के कारण थिएटर पूरी तरह से नहीं खुले थे, जिस कारण सभा की अनुमति नहीं थी। कलाकारों और निर्देशन टीम द्वारा मंडी हाउस, दिल्ली में इस शॉर्ट फिल्म के पोस्टर और ट्रेलर को लॉन्च किया गया और 17 सितम्बर से प्रारंभ होने वाले छठे देहरादून अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में रिलीज किया जाएगा। कोविड -19 महामारी शुरू होने के बाद, यह नई दिल्ली में होने वाला पहला बड़ा फिल्म प्रचार रहा। इस मौके पर डॉलीवुड फिल्म एसोसिएशन एंड इंडो आर्ट फाउंडेशन के

कल्पनाशीलता से परे है नॉन फिक्शन राइटिंग

Image
नोएडा 16 सितम्बर।सातवें ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल के तीसरे दिन 'द चेंजिंग फेस ऑफ़ नॉन फिक्शन राइटिंग' पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें साहित्य अकादमी के डिप्टी सेक्रेटरी कुमार अनुपम, लेखिका संध्या सूरी, लेखक डॉ. विवेक गौतम, लेखक डॉ. प्रेम जंमेजय और मारवाह स्टूडियो के निदेशक डॉ. संदीप मारवाह ने भाग लिया, नॉन फिक्शन राइटिंग का मतलब है बिना किसी चाशनी में डूबे और बिना किसी चाँद सितारों की बात किये यथार्थ को लिखना, पिछले कुछ वर्षों में लोगों का इस तरफ झुकाव काफी बढ़ा है क्योंकि आज नॉलेज और प्रतिस्पर्धा का ज़माना है इसलिए लोग कम्प्यूटर, मैनेजमेंट, बिज़नेस, सिनेमा की किताबे खूब पढ़ते है अगर उपन्यासिक किताबों की बात करे तो मधुकर उपाध्याय की लिखी 1857 के ग़दर पर लिखी गयी किताब को जो भी पढ़ता है उसे ख़त्म करके ही रखता है या फिर अरुंधति राय की नर्मदा पर लिखी किताब जिसमें उन्होंने पूरी कला का निचोड़ दिया है जो पूरी तरह बांधे रखता है यह कहना था डॉ. संदीप मारवाह का, जिसपर डॉ. प्रेम जन्मेजय ने कहा कि बिना बदलाव के प्रगति संभव नहीं है, इसे भी एक बदलाव ही कहा जाएगा की इतनी दूर होकर हम आपस

स्नेह फाउंडेशन की अध्यक्ष स्नेह लता भारद्वाज ने देवेंद्र झाझरिया का किया सम्मान

Image
जयपुर। देवेंद्र झाझरिया ने तीन बार पैरालिंपिक में भाग लिया और दो बार उन्होंने गोल्ड मेडल जीता है। भारत के पहले पैरा ओलंपियन हैं झाझरिया, जिन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। 2021 में उन्होंने रजत रजत पदक हासिल किया। देवेंद्र झाझरिया ने उम्र के साथ-साथ अनुभव भी हासिल किया है। झाझरिया को 2021 में पद्मश्री दिया गया। वह यह सम्मान हासिल करने वाले पहले पैरा एथलीट हैं। इससे पहले उन्हें राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड 2017 में और 2005 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है।ख़ुशी का इज़हार करते हुए स्नेह फ़ाउंडेशन की अध्यक्ष स्नेहलता भारद्वाज ने भी इनका सम्मान किया । Report By Shivani Choudhary

भारत में हर दस किलोमीटर में बोली बदलती है - संदीप मारवाह

Image
भारत एक ऐसा देश है जहाँ हर दस किलोमीटर में बोली बदलती जाती है और हर प्रदेश की भाषा बदलती जाती है किंतु हम भारत की मातृ भाषा हिंदी को लेते है जैसे की माँ अपने सारे बच्चों को एक जैसा प्यार करती है और उसके अंदर हर चीज़ को अपनाने की क्षमता होती है ठीक उसी प्रकार हिंदी ने भी कई भाषा के शब्दों को इस तरह अपनाया है कि वो शब्द हिंदी के ही लगते हैं ! आज हिंदी दिवस पर मैं पूरे देशवासियों को मुबारकबाद देना चाहूंगा और साथ ही कहना चाहूंगा कि ज्यादा से ज्यादा हिंदी भाषा का प्रयोग करे, यह कहना था एएएफटी यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ. संदीप मारवाह का जो सातवें ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल नोएडा का वर्चुअल आयोजन कर रहे है । इस अवसर पर देश विदेश की जानी मानी हस्तियां कंबोडिया के राजदूत सिन युंग, भारत के आयरलैंड में राजदूत अखिलेश मिश्रा, शोभित यूनिवर्सिटी के चांसलर कुंवर शेखर विजेंद्र, लेखक अशोक अरोड़ा और अशोक कुमार शर्मा ने भाग लिया सिन युंग ने कहा कि कोविड ने हम सबको बदल कर रख दिया है आज हम डिजिटल ज़िंदगी जी रहे है और दूरी बनाकर भी एक साथ है जहां तक भाषा का सवाल है हम सब अपनी भाषा से अपने देश से प्रेम कर