कवि सम्मेलन व मुशायरे में शहजादे कलीम को मिला विशेष सम्मान

 



दिल्ली के हैबिबेट सेंटर में लखनऊ के शहजादे कलीम सामाजिक सेवाओं के लिए हुए सम्मानित

नई दिल्ली 31 मार्च। प्रगतिशील साहित्यकार समिति के तत्वावधान में मशहूर कवि काशीनाथ मिश्र द्वारा लिखित ‘‘जो कुछ मुझे याद है’’ व इंटरनेशनल शायरा अना देहवी द्वारा लिखित ‘‘आबरू-ए-ग़जल’’ किताबों का लोकार्पण इंडिया हैबीटेट सेंटर में किया गया। इस मौके पर विराट कवि सम्मेलन व मुशायरे का आयोजन भी किया गया जिसमें देश के कई राज्यों के मशहूर कवि व शायरों ने अपने कलाम पेश किए । मंच का संचालन हरि नारायण हरि व मोईन शादाब द्वारा किया गया। इस अवसर पर जस्टिस डी-एस- त्रिपाठी, पूर्व आई ए एस धमेन्द्र देव मिश्र, पूर्व आई-पी-एस- विभूति नारायण राय, पूर्व आई-ए-एस- चंद प्रकाश पांडे, कवि राज पंडित आत्मा राम दुबे, पूर्व सांसद राजेश पांडे, पूर्व सांसद एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता जदयू के-सी- त्यागी सहित टीम केयर इंडिया एवं रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष शहजादे कलीम खान को भी विशेष अतिथि के रूप में शॉल व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। 
कार्यक्रम के मध्य केक काटकर काशीनाथ मिश्र जी का जन्मदिन भी मनाया गया तथा फे़स ग्रुप के चेयरमैन डॉ- मुश्ताक अंसारी व टीम केयर इंडिया एवं रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष शहजादे कलीम खान ने काशीनाथ मिश्र को शॉल व पुष्प भेंट कर विशेष रूप से मुबारकबाद पेश की। इस मौके पर शहजादे कलीम ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि काशीनाथ जी मशहूर कवि के साथ-साथ सेकूलर सोच रखने वाले देशभक्त व्यक्ति हैं, जिनके जीवन का अधिकांश वक्त समाज सुधार व राष्ट्रहितैषी कार्यों पर खर्च हुआ है। उन्होंने कहा ऐसे लोगों से समाज को प्रेरणा लेनी चाहिए। इस मौके पर पूर्व डी-आई-जी- बी-एस-एफ- वाजिद अली, सय्यद ज़ियाऊल हसन पारे, मौ0 इकराम एडवोकेट, नरेश वर्मा, मौ0 इलयास सैफी, अलीम अंसारी, हेमंत पांडे, तारिक सिद्दीकी, खुर्शीद अहमद, डॉ0 कमरूल हक़, अशरफ अंसारी, मोईन जयपुरिया, अर्चना त्रिपाठी आदि गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहे।