श्री राम के देश में रावण के देश से बहुत ज़्यादा महंगा है डीज़ल पेट्रोल



श्री राम के देश में डीजल व पेट्रोल के दाम 90/111 और रावण के देश में डीजल व पेट्रोल के रेट 40/61 हैं ।सीता के देश में डीजल और पेट्रोल के रेट राम के देश से भी सस्ते आख़िर हमारे पूज्य राजाराम चंद्र जी के देश में डीजल और पेट्रोल के दाम इतने ज्यादा क्यों हैं । दोस्तों आज हमारे भारत में त्राहि-त्राहि मची हुई है किसान परेशान हैं, आम आदमी परेशान है तो उद्योगपति भी परेशान हैं पर कोई भी आवाज उठाने को तैयार नही है । डीजल और पेट्रोल के दाम इतने ज्यादा बढ़ गए हैं कि माल ढुलाई,किसान की फसल उगाई और अन्य चीजों पर डीजल पेट्रोल की वजह से रेट बढ़ते चले जा रहे हैं लेकिन आम आदमी की इनकम बढ़ने के बजाय घटती चली जा रही है, किसान की पैदावारी भी इतनी अच्छी नहीं है कि किसान इतने महंगे डीजल पेट्रोल को खरीद कर खेती कर सकें । सरकार मूकदर्शक बनी हुई है क्योंकि सरकार को रोजाना कई हजार करोड़ रुपए नगद मिल जाते हैं, डीजल और पेट्रोल से आम जनता जो गरीब है उसको क्या मिलता है एक लॉलीपॉप किसानों को ₹2000 का लॉलीपॉप दे दिया गया है। गरीब आदमी को 3 महीने का राशन फ्री दे दिया गया है वह भी अनाज में राशन के अलावा अन्य चीजें गरीब आदमी को बाजार से ही लेनी पड़ती हैं,महंगे दामों पर हमारा भारत देश कोविड-19 जैसी बीमारी से ग्रस्त है,ऐसी महामारी में आम आदमी की कमर टूट गई है । सरकार को महंगाई के विरुद्ध ठोस कदम उठाने चाहिए जिससे आम आदमी को राहत मिल सके । आम आदमी को जीवन यापन करने के लिए डीजल पेट्रोल और पानी जरूरी है,दूध के दाम आसमान छू रहे हैं पर किसानों से दूध 30 से 40 केजी खरीदा जा रहा है,अन्य फसलों के भी उचित दाम किसानों को नहीं मिल पा रहे हैं । किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं पर किसानों की मांगों पर सरकार ने अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया है, बंद पड़े स्कूल पूरी फीस ले रहे हैं।क्योंकि जितने भी बड़े प्राइवेट कूल हैं वह लगभग किसी न किसी पूंजीपति या नेताओं के हैं,सरकार को आम आदमी की ओर भी ध्यान देना चाहिए।

अमरकेश सिंह 
कायमगंज जिला फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश

Popular posts from this blog

भाई मेहरबान ने दिया आपसी सौहार्द पर बल

Specially abled Sanjana Pherwani was crowned specialy for her dedication and confidence

फिल्म जगत का संकट अभी टला नहीं है : वंदना पाटिल