पुलिस के प्रति दुष्प्रचार वो लोग करते हैं जो पुलिस की सेवाओं से परिचित नही : डॉ० राकेश मिश्रा










फ़ेस ग्रुप ने किया डीसीपी डॉ० राकेश मिश्रा को सम्मानित

नई दिल्ली 19 जुलाई ! स्पेशल टास्क फोर्स (STF) लखनऊ के डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (DCP) व शायर डॉ० राकेश मिश्रा ने दिल्ली आराम पार्क स्थित फेस ग्रुप के कार्यालय में फेस ग्रुप के चेयरमैन डॉ० मुश्ताक़ अंसारी से मुलाकात की तथा डॉक्टर अंसारी ने स्मृति चिन्ह भेंट कर डॉ० राकेश को सम्मानित भी किया । इस मौके पर दिल्ली उर्दू अकादमी के पूर्व सदस्य इरशाद चौधरी, बिलाल अंसारी, हाशिम रज़ा जलालपुरी,आनंद शर्मा व शिवानी चौधरी आदि भी मौजूद रहे।
               शायरी की दुनिया में ‘तूफान’ तखल्लुस से प्रसिद्ध डॉ० राकेश मिश्रा ने इस औपचारिक भेंटवार्ता में पुलिस विभाग की सेवाओं और समस्याओं पर चर्चा करते हुए कहा कि पुलिस के संबंध में अधिकांश वह लोग दुष्प्रचार करते हैं जो पुलिस की सेवाओं से पूरी तरह परिचित नहीं हैं । अधिकांश लोग पुलिस के उस रूप की चर्चा करते हैं जो पुलिस को समाज सुधार के लिए अपराधियों के समक्ष धारण करना पड़ता है। उन्होंने कहा पुलिस दिन रात की परवाह किए बगैर जनता की सेवा करती है, आम जनता को अपराधियों से बचाती है। किसी आपराधिक वारदात में जब मृत व्यक्ति की लाश पुरानी होने के कारण बदबू मारने लगती है तो ऐसी स्थिति में जब मृतक के परिवार
के लोग भी लाश से हाथ लगाने को तैयार नहीं होते तो पुलिस आगे आती है।जान हथेली पर लेकर रातों को गस्त करके समाज को सुरक्षा देती है पुलिस। न्यायाधीश, अधिकारी व राजनेताओं को भी सुरक्षा देती है पुलिस। राष्ट्रीय पर्व हो या फिर सामुदायिक पर्व सभी अवसरों पर अपने परिवार से दूर रहकर जनमानस को सुरक्षा प्रदान करती है पुलिस। इतना सब कुछ करने व सुरक्षा प्रदान करने पर भी पुलिस को हीन दृष्टि से देखना उचित नहीं है।समाज को पुलिस के प्रति अपनी सोच को बदलना चाहिए ।
                             डॉक्टर मुश्ताक़ अंसारी ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि पुलिस विभाग भ्रष्टाचार के लिए भी काफी बदनाम है,जबकि पुलिस से कहीं ज्यादा भ्रष्टाचार अन्य विभागों में पाया जाता है जिसकी एक वजह यह भी है कि पुलिस का वास्ता गरीब व कम समझ रखने वाले व्यक्तियों से ज्यादा पड़ता है तथा अन्य विभागों के कर्मचारियों से शिक्षित व व्यापारी वर्ग का वास्ता पड़ता है जो दुष्प्रचार या प्रचार नहीं करते।


Report By
Shivani Choudhary

Popular posts from this blog

भाई मेहरबान ने दिया आपसी सौहार्द पर बल

Specially abled Sanjana Pherwani was crowned specialy for her dedication and confidence

फिल्म जगत का संकट अभी टला नहीं है : वंदना पाटिल