कोरोना गाइडलाइन की आड़ में प्रशासन मुसलमानों को ना करे परेशान : मौलाना आबिद क़ासमी

ज़मीयत उलेमा दिल्ली के दोबारा अध्यक्ष बनने पर मौलाना आबिद क़ासमी का फ़िक्की ने किया इस्तक़बाल नई दिल्ली 18 जुलाई।फ़ेस इस्लामिक कल्चरल कम्यूनिटी इंटिग्रेशन (फिक्की) द्वारा मुस्तफाबाद इलाक़े में जमीयत उलेमा दिल्ली स्टेट के नवनियुक्त अध्यक्ष मौलाना आबिद क़ासमी का इस्तकबालिया प्रोग्राम फिक्की के फ़ाउंडर चेयरमैन डॉ० मुश्ताक़ अंसारी व प्रदेश उपाध्यक्ष अलीम अंसारी की देख रेख में सम्पन्न हुआ। इस स्वागत कार्यक्रम में मौलाना मोहम्मद हसन, मौलाना ज़ाहिद, हाजी इस्लामुद्दीन अंसारी, हाजी तक़ी, हाजी शाहिद मलिक, हाजी इक़बाल अंसारी, हाजी सलीम क़ुरैशी,हाजी ज़ाकिर मलिक,हाजी बाबू सिद्दिकी,सहित पहलवान,सलीमअंसारी, मुस्तफ़ा गुड्डू, आबिद अंसारी, शमशाद अंसारी,हाजी राहत सैफी,मोहम्मद अनस अंसारी, हाजी सलीमुद्दीन अंसारी, हसन मलिक, अबरार अंसारी, डॉक्टर भूरे, हाजी नवी अहमद, इकरार अहमद, ज़रीफ़ अंसारी, हाजी जमील आदि भी मौजूद रहे । मंच का संचालन दानिश अय्यूबी द्वारा किया गया । इस मौक़े पर मौलाना आबिद क़ासमी ने अपने वक्तव्य में मौजूद सभी लोगों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि ईदुल अज़हा पर जिन जानवरों की क़ुर्बानी होती आई है, इस बार भी होगी। उन्होंने कहा करोना गाइडलाइन की आड़ में कुछ पुलिसकर्मी मुसलमानों को परेशान कर रहे हैं उस संबंध में मैंने दिल्ली पुलिस के संयुक्त आयुक्त से मुलाक़ात की तो उन्होंने आश्वासन दिया कि क़ुर्बानी पर कोई पाबंदी नहीं है लेकिन सफ़ाई का विशेष ख्याल रखें। मौलाना आबिद क़ासमी ने यह भी कहा कि ईद उल अज़हा पर मदरसों व मोलवियों की दिल खोलकर मदद करें क्योंकि कोरोना काल में मदरसों को भारी नुक़सान पहुँचा है, उनकी आमदनी के रास्ते तक़रीबन बंद हो गए हैं। डॉ० मुश्ताक़ अंसारी ने कहा कि ज़मीयत पिछले 150 वषों से देश व मुस्लिम समाज की मदद कर रही है,जब भी कभी देश व मुसलमानों पर कोई आफ़त आई है तो ज़मीयत ने हमेशा आगे आकर पीड़ितों की मदद की है। उन्होंने आगे कहा कि ईद उल अज़हा पर सफ़ाई का विशेष ख्याल रखें,निगम ने सभी इलाकों में सफ़ाई कर्मचारियों व गाड़ियों का प्रबंध किया है।डॉक्टर अंसारी ने यह भी कहा कि क़ुर्बानी में पर्दे का ख़ास ख़्याल रखें ताकि अन्य मज़हब के लोगों को किसी तरह की तक़लीफ़ न पहुँचे। अलीम अंसारी ने सभा में मौजूद मेहमानों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि कोरोना संकट के दौर में सभी लोग एक दूसरे की मदद करें ताकि ईद पर क़ुर्बानी का गोस्त गरीब व ज़रूरतमंदों तक पहुँचाने की कोशिश करें ताकि वह भी ईद की खुशियां में शामिल हो सकें।

Report By Dr. Bilal Ansari

Popular posts from this blog

भाई मेहरबान ने दिया आपसी सौहार्द पर बल

Specially abled Sanjana Pherwani was crowned specialy for her dedication and confidence

फिल्म जगत का संकट अभी टला नहीं है : वंदना पाटिल